रांची स्मार्ट सिटी परियोजना का शुभारंभ, नायडू ने रखी आधारशिला

नायडू

नायडूरांची : रांची स्मार्ट सिटी परियोजना के काम का शुभारंभ शनिवार को हो गया है. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इसकी आधारशिला रखी. इस मौके पर रांची स्मार्ट सिटी के मास्टर प्लान को भी लांच किया गया. मास्टर प्लान के अनुसार, यह शहर पूरी तरह स्मार्ट तो होगा ही, यहां के लोग भी स्मार्ट होंगे. यहां जाम जैसी कोई समस्या नहीं होगी. नो व्हीकल जोन बनाया गया है.

स्मार्ट सिटी की क्षमता 1.50 लाख लोगों की होगी, जो वहां रह कर काम करेंगे, निवास करेंगे या आना-जाना करेंगे. रांची स्मार्ट सिटी में तीन कैटेगरी में लोग रहेंगे. लोअर डेनसिटी में 50 से 200 लोग प्रति एकड़ में, मिडियम डेनसिटी में 201 से 400 लोग प्रति एकड़ में तथा हाइ डेनसिटी में 401 से 800 लोग प्रति एकड़ में रहेंगे. स्मार्ट सिटी के आवासीय परिसर में 69270 लोग रहेंगे. वहां के वर्किंग लोगों की संख्या लगभग 72248 होगी.

40 मीटर तक चौड़ी होंगी सड़कें : स्मार्ट सिटी में 2.5 किमी सड़कें 40 मीटर चौड़ी होंगी. वहीं 24 मीटर चौड़ाई वाली 9.9 किमी सड़क, 18 मीटर चौड़ाई वाली 2.6 किमी सड़क व 12 मीटर चौड़ाई वाली 1.1 किमी सड़क होगी. स्मार्ट सिटी के अंदर नन मोटराइज्ड व्हीकल ही चलेंगे. स्मार्ट बस शेल्टर बनाये जायेंगे. वहीं इसके बाहरी इलाके में मल्टी लेवल कार पार्किंग भी होगा.

कॉमर्शियल इस्तेमाल के लिए 67.7 एकड़ : स्मार्ट सिटी के कुल 67.7 एकड़ क्षेत्रफल को कॉमर्शियल के लिए चिह्नित किया गया है. यहां कॉमर्शियल अॉफिस, फाइव स्टार होटल, रिटेल मॉल, कॉमर्शियल टावर, हाट, वेंडिंग एरिया, लोकल शॉपिंग सेंटर आदि बनेंगे.
245 एकड़ होगा ग्रीन एरिया : स्मार्ट सिटी में 245 एकड़ का क्षेत्रफल ग्रीन एरिया या ओपेन स्पेस होगा. यहां पैदल चलने वालों के लिए फुटपाथ होगा. साथ ही साइकिल ट्रैक भी होगा.स्मार्ट सिटी में कई शैक्षणिक संस्थान भी होंगे.
स्मार्ट सिटी के साथ-साथ पैन सिटी का भी डेवलपमेंट होगा : स्मार्ट सिटी के साथ-साथ स्मार्ट सिटी तक आनेवाली सड़कों को भी पैन सिटी के तहत डेवलप किया जाना है. इस कड़ी में एयरपोर्ट से बिरसा चौक, बिरसा चौक से राजभवन, राजभवन से बूटी मोड़ व राजभवन से कांटा टोली सड़क का भी चौड़ीकरण किया जायेगा. इन सड़कों में साइकिल ट्रैक व फुटपाथ बनाये जायेंगे. अलग से केबल डक्ट भी होंगे. पाइपलाइन से लेकर बिजली खंभो को दुरुस्त किया जायेगा.

इन तीन बड़े भवनों की रखी गयी आधारशिला
अरबन सिविक टावर
स्मार्ट सिटी में 191.64 करोड़ की लागत से अरबन सिविक टावर बनेगा. शापोरजी पालोन जी को इसका काम दिया गया है. यह 12293 वर्गमीटर में बनेगा. भवन टूबी प्लस जी प्लस 15 का होगा. इसमें शॉप एवं फूड कोर्ट,वर्क स्टेशन स्पेस, मीटिंग रूम, बोर्ड रूम, अॉडियो विजुअल कांफ्रेंस रूम आदि होंगे. इसमें 411 चार पहिया व 480 दोपहिया वाहनों की पार्किंग की सुविधा होगी.

जुपमी
107.57 करोड़ की लागत से से 30351 वर्ग मीटर में झारखंड अरबन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट(जुपमी) बनेगा. केएमवी प्रोजेक्ट लिमिटेड को इसका काम दिया गया है. यहां कॉन्फ्रेंस रूम, सेमिनार रूम, स्टूडेंट कोर्ट, लेक्चर हॉल, प्रोजेक्ट लैब, क्लास रूम, गर्ल्स एवं ब्यॉज हॉस्टल, रिसर्च सेंटर व एक्टिविटी रूम होंगे. साथ ही 125 चार पहिया व 100 दो पहिया वाहनों की पार्किंग सुविधा होगी.

कन्वेंशन सेंटर
कन्वेंशन सेंटर का निर्माण 25908 वर्ग मीटर में किया जायेगा. भवन टू बी प्लस जी प्लस टू होगा. यहां 5000 लोगों की क्षमता वाला मल्टी पर्पस हॉल होगा. कॉन्फ्रेंस कक्ष, बोर्ड कक्ष, मीडिया कक्ष, मिनी अॉडिटोरियम आदि की सुविधा होगी़ बेसमेंट पार्किंग में 1040 चारपहिया व 641 दो पहिया वाहन की क्षमता होगी. साथ में फूड कोर्ट व कन्वेंशन, एग्जीबिशन स्पेस भी होगा.

656 एकड़ में बनेगी स्मार्ट सिटी
मास्टर प्लान के अनुसार, एचइसी की कुल 656 एकड़ भूमि में स्मार्ट सिटी का निर्माण होगा. चार मुख्य प्रवेश द्वारा होंगे. एक प्रवेश द्वार की हटिया रेलवे स्टेशन से दूरी 0.5 किमी होगी. वहीं एयरपोर्ट की दूरी दो किमी है. यहां रिबूस्ट आइटी कनेक्टिविटी एंड डिजिटाइजेशन, सोलर जेनरेट इलेक्ट्रिसिटी, डक्ट केबलिंग, वेस्ट वाटर रिसाइक्लिंग, स्मार्ट मिटरिंग, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, एनर्जी एफिशिएंट स्ट्रीट लाइटिंग, सेफ्टी एंड सिक्यूरिटी फॉर सिटीजन, वाल्काबिलिटी एंड साइकलिंग, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, नो व्हीकल जोन, इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट, सेनिटेशन, पेडेस्ट्रीयन पाथ वे, रिवर फ्रंट, पार्क और ओपन स्पेस की सुविधा होगी. सभी जगह सीसीटीवी की निगरानी में होगी.

86.5 एकड़ में होगा आवासीय परिसर
स्मार्ट सिटी में कुल 86.5 एकड़ में आवासीय परिसर होगा. इसमें 200 वर्गफीट के 2016 हॉस्टल रूम होंगे. वहीं 300 वर्गफीट के इडब्ल्यूएस फ्लैट की संख्या 1738 होगी. 600 वर्गफीट के एलआइजी फ्लैट की संख्या 3838 होगी. 1000 वर्गफीट के एमआइजी फ्लैट की संख्या 4121 होगी. वहीं 1500 वर्गफीट के एचअाइजी फ्लैट 1833 तथा 2200 वर्गफीट के सुपर एचआइजी फ्लैट 1039 होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *