रायपुर। प्रदेश के वन, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री माननीय श्री महेश गागड़ा जी आज छत्तीसगढ़ वन लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के स्थापना दिवस एवं प्रांतीय अधिवेशन में शामिल हुए। कार्यक्रम का आयोजन हाॅटल वूड केशल, व्ही.आई.पी. चैंक महासमुंद रोड, रायपुर में किया गया था। मुख्य अतिथि के आसंदी से निर्वाचित प्रांतीय पदाधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए मंत्री जी ने कहा कि संगठित प्रयासों के द्वारा ही योजनाओं और आवश्यकताओं को साकार किया जा सकता है। मंत्री जी ने कहा कि मुझे यह देखकर अत्यंत खुशी हो रही है कि संघ में महिला वर्ग को भी शामिल किया गया है। महिलाएं भी संघ में महत्वपूर्ण भूमिकाओं का निर्वहन कर रही हैं। आप सभी पदाधिकारियों से उम्मीद है कि आप संघ के साथ-साथ विभाग में बेहतर समन्वय स्थापित कर अपने कार्यों को संपादित करेंगे। विभाग में आपकी भूमिका और दायित्व महत्वपूर्ण है। आपके माध्यम से सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाया जाता है। किसी भी हितग्राही को लाभ देने में आपकी भूमिका महत्वपूर्ण होती हैं। आप सभी अपनी जिम्मेदारी तय करें एवं विभागीय अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए योजनाओं का लाभ जनता तक पहुुंचाने में अपनी भूमिका का निर्वहन करें।
मंत्री जी ने कहा कि मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि आपकी जो भी समस्याएं मेरे संज्ञान में लाया जावेगा या मुझे ज्ञात होगा मैं उसका जल्द ही सकारात्मक समाधान करुंगा। हमेशा आपके सहयोग के लिए तत्पर रहूंगा। हम सभी एक परिवार के सदस्य हैं, हमारे बीच आपसी संवाद बना रहना चाहिए और समस्याओं पर हमारे बीच चर्चा होनी चाहिए तभी हम विषयों पर समाधान प्राप्त कर सकेंगे। आपका संगठन बेहतर कार्य करे, अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करें, संगठन नवीन ऊंचाईयों को छुए इन्हीं शुभकामनाओं के साथ पुनः मैं आपको बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।
कार्यक्रम में प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री आर. के. टाम्टा, मुख्य वन संरक्षक रायपुर श्री अरुण पाण्डेय, संघ के प्रांताध्यक्ष श्री विरेन्द्र नाथ, सचिव श्री तरुण देवदास सहित संघ के पदाधिकारी एवं कर्मचारी सम्मिलित हुए।