छत्तीसगढ़ में 18 महीने में बनेंगी 2200 करोड़ रूपए की सड़कें

रायपुर:सड़कों का नेटवर्क के विस्तार के लिए रमन सरकार की पहल पर छत्तीसगढ़ में अगले 18 महीने में दो हजार 179 करोड़ रूपए की लागत से 808 किलोमीटर की 25 सड़कों का निर्माण किया जाएगा।  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम को इन महत्वपूर्ण सड़कों का निर्माण मई 2018 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। इन सड़कों के पूर्ण होने पर विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों  में लोगों को बारहमासी यातायात की और भी अधिक बेहतर सुविधा मिलेगी। डॉ. सिंह ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में राज्य की सड़क विकास परियोजनाओं की समीक्षा की। मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजनांदगांव जिले की धमधा-गण्डई-साल्हेटेकरी सड़क को भी छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम के माध्यम से बनने वाली इन सड़कों में शामिल किया गया। लगभग 39 किलोमीटर लम्बी इस सड़क का निर्माण 120 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। मुख्यमंत्री के समक्ष अधिकारियों ने इन सड़क परियोजनाओं पर प्रस्तुतिकरण दिया ।
मुख्यमंत्री ने बैठक में जिन सड़कों को अगले डेढ़ वर्ष में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं, उनमें सकरी-गनियारी-कोटा तक 21.8 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 73 करोड़ रूपए की लागत से, जांजगीर-पामगढ़ तक 23.6 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 64 करोड़ रूपए की लागत से, सेलूद-रानीतराई-पाटन तक 40.5 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग एक अरब 18 करोड़ रूपए की लागत से, करेसरा-खम्हरिया-सिल्हाटी तक 39.2 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 92 करोड़ रूपए की लागत से, जी.ई. रोड-इंदामारा-ठेलकाडीह तक 20 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 56.6 करोड़ रूपए की लागत से, चौकी-चिल्हाटी-कोरचाटोला तक 22.2 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 58 करोड़ रूपए की लागत से, डोंगरगढ़-चिचोला तक 15.3  किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 48.2 करोड़ रूपए की लागत से, धारा-ठेलकाडीह तक 19.4 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 51.5 करोड़ रूपए की लागत से, चिखली-पदुमतरा तक 15.9 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 42 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा।
इसी कड़ी में पामगढ़-लाहोद तक 31 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 76.5 करोड़ रूपए की लागत से, बिश्रामपुर-दतिमा तक 10 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 26.7 करोड़ रूपए की लागत से, अम्बिकापुर-प्रतापपुर तक 40.5 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 83.2 करोड़ रूपए की लागत से, बरमकेला-सोहेला तक 32 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 91.5 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। घरघोड़ा-लैलूंगा तक 22.7 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 68 करोड़ रूपए की लागत से, धमधा-बेमेतरा तक 33.1 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 91.7 करोड़ रूपए की लागत से करने की स्वीकृति दी गई है। बिरकोना-पिपरिया-उमरिया तक 38.1 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 95 करोड़ रूपए की लागत से, तारा-प्रेमनगर-रामानुजनगर तक 50.2 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग एक अरब 30 करोड़ रूपए की लागत से, कवर्धा-रामपुर-खम्हरिया तक 28.1 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 74.5 करोड़ रूपए की लागत से, डौंडी लोहारा-जूनापानी-चौकी तक 42 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग एक अरब 10 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। चिचोला-छुरिया-कल्लूबंजारी से महाराष्ट्र की सीमा तक 25 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 58 करोड़ रूपए की लागत से, पसान-पिपरिया-कोडगर तक 33 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग 97 करोड़ रूपए की लागत से होगा। सीपत-बलौदा-उरगा तक 41 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण लगभग एक अरब ग्यारह करोड़ रूपए की लागत से, पूंजीपथरा-तमनार-लैलूंगा तक 53 किलोमीटर सड़क का निर्माण एक अरब 46 करोड़ रूपए और हाटी-उरगा तक 71 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण एक अरब 92 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अम्बिकापुर रिंग रोड के उन्नयन कार्य का विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन जल्द तैयार करने के निर्देश दिए।
डॉ. रमन सिंह ने बैठक में प्रदेश में परिवहन सीमा जांच चौकियों के आधुनिकीकरण और कम्प्यूटरीकरण कार्य की प्रगति की समीक्षा भी की। इनमें से प्रथम चरण में राजनांदगांव जिले की पाटेकोहरा, महासमुन्द जिले की खम्हारपाली, बलरामपुर-रामानुजगंज जिले की धनवार और कबीरधाम जिले की चिल्फी जांच चौकियों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है। बैठक में लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह, जनसम्पर्क विभाग के सचिव श्री संतोष मिश्रा, राजस्व विभाग के सचिव श्री के.आर. पिस्दा, लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री अनिल राय, छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम के प्रबंध संचालक डॉ. रोहित यादव, वित्त विभाग के विशेष सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री मुदित कुमार सिंह, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता श्री डी.के. प्रधान सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *