तकनीकी क्षेत्र में अब बेहतर होगा इस्को स्टील प्लांट

बोकारो: सेल प्रबंधन बोकारो इस्पात संयंत्र सहित अपने विभिन्न इकाई को घाटे से उबारने के लिए इस्पात की खपत व उत्पादन पर जोर दिया है। इसी कड़ी में सेल मुख्यालय इस्को-बर्नपुर इस्पात संयंत्र में तकनीकी क्षेत्र की जिम्मेवारी अब पास्को कंपनी के साथ साझा रूप से निभाएगी।

इस बावत दोनों कंपनी के बीच रविवार को करार हुआ। समझौते के बाद सेल के इस्को इस्पात संयंत्र में व्यापारिक लाभ की संभावना प्रबल हो गई है। प्रबंधन इस्को-बर्नपुर संयंत्र को उत्पादन-उत्पादक्ता के साथ तकनीकी रूप से दक्ष बनाने के लिए कई कार्यो का परिचालन अब पास्को के साथ करेगी।

वर्तमान में जहां दोनों कंपनी के बीच सिर्फ ऑपरेशन व मानव संसाधन के क्षेत्र में कार्य किया जा रहा था। उसका विस्तार कर अब अनुरक्षण, कोक मे¨कग, आयरन एंड स्टील मे¨कग, का¨स्टग, कोल्ड डस्ट इंजक्शन व वायर रोड मिल्स का काम भी पास्को कंपनी के जिम्मे होगी। बता दें कि आधुनिकीकरण के बाद इस्को-बर्नपुर इस्पात संयंत्र से उत्पादित माल की मांग राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय बाजार में काफी बढ़ गई है।

इससे पूर्व सेल प्रबंधन नवंबर 2016 में पास्को कंपनी के साथ परिचालन व एचआर के मसले पर एमओयू कर चुकी थी। जिसके परिणाम स्वरूप इस्को संयंत्र के उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है। इन्हीं मानकों को ध्यान में रखकर सेल अध्यक्ष ने तकनीकी क्षेत्र की जिम्मेवारी भी अब पास्को कंपनी को दे दी है।

इस्को-बर्नपुर इस्पात संयंत्र के सीईओ दासगुप्ता को सेल के निदेशक (तकनीकी) रमण बीते तीन अक्टूबर 2017 को कंपनी में कैश कलेक्शन व उत्पादन की दिशा में बेहतर काम करने के लिए प्रोत्साहित कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *