युवाओं को ट्रेनिंग के लिए जापान भेजेगी केंद्र सरकार : धर्मेंद्र प्रधान

नई दिल्ली। केंद्र सरकार फिलहाल नौकरी कर रहे लोगों में से 3 लाख लोगों को ट्रेनिंग के लिए जापना भेजेगी। भारतीय तकनीकि इंटर्न के कौशल प्रशिक्षण पर आने वाली लागत को जापान अदा करेगा। इसकी समय सीमा 3 से 5 साल तक के लिए होगी।

यह जानकारी केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्मिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दी। उन्होंने कहा कि कौशल कार्यक्रम के अंतर्गत युवाओं को जापान भेजा जाएगा। प्रधान ने यह जानकारी ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा कि तकनीकी इंटर्न प्रशिक्षण कार्यक्रम (TITP) के अंतर्गत जापान से MOC पर दस्तखत के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दे दी है।

गौरतलब है कि प्रधान 16 अक्टूबर को अपनी 3 दिवसीय जापान यात्रा पर जाएंगे, जिसके दौरान MOC पर दस्तखत हो सकते हैं। धर्मेंद्र ने जानकारी दी कि इन 3 लाख लोगों में से 50 हजार युवाओं को नौकरी भी मिल सकती है।

धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर कहा कि ‘TITP तीन लाख भारतीयों को नौकरी के प्रशिक्षण के लिए तीन से पांच साल के लिए जापान में तीन लाख भारतीय प्रशिक्षकों को भेजने का एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है।’ उन्होंने कहा कि यह MOC कौशल विकास के क्षेत्र में भारत-जापान द्विपक्षीय सहयोग के लिए मार्ग प्रशस्त करेगा और भारत की राष्ट्रीय उत्पादकता में सुधार करेगा। प्रधान ने कहा कि ‘TITP पर भारत और जापान के बीच MOC पर हस्ताक्षर करने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल और माननीय प्रधान मंत्री का आभारी हूं।’

गौरतलब है कि इन दिनों केंद्र सरकार युवाओं को रोजगार के मुद्दे पर चौतरफा हमले का शिकार हो रही है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों गुजरात में चुनाव के ऐलान से पहले रैलियों के दौरान बढ़ती बेरोजगारी के मसले पर मोदी सरकार पर हमलावर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *