नोटबंदी से BJP विरोधियों में मची हाय-तौबा : अमित शाह

amitshahआजमगढ़: बीजेपी की परिवर्तन यात्रा के अवसर पर गुरुवार को आयोजित रैली में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि नोट बंदी से भाजपा के विरोधियों में हाय तौबा मची है। देश के आतंकियों, माफिया, नक्सलियों का सारा धन रद्दी हो गया है। नोटबंदी से बहनजी का रंग उड़ गया है।

आईटीआई मैदान में आयोजित रैली में शाह ने कहा कि मोदी की बाढ़ में कांग्रेस, बसपा, सपा, ममता सभी इकट्ठा हो गए हैं। सब एक साथ एक्सपोज हो गए हैं। शाह ने कहा कि नोटबंदी से महंगाई कम होगी।

पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक की भी शाह ने याद दिलाई। कहा कि हमारे जवानों पर सोते समय आतंकियों ने हमला कर जला दिया। हमारी सेना ने उनके घर में घुसकर हमला किया। राहुल बाबा इसे खून की दलाली कहते हैं। राहुल पर निशाना साधते हुए पूछा कि आपकी सरकार में आतंकियों ने हेमराज का सिर काटा तो आपने क्या किया था?

प्रदेश की सपा सरकार पर हमला करते हुए शाह ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ आप तक नहीं पहुंच रहा है। चाचा भतीजा में झगड़ा केवल कमीशन की वजह से हो रहा है। अखिलेश सरकार किसानों का पैसा खा गई। ऐसी सरकार रहते हुए यूपी का विकास नहीं हो सकता है। सबसे ज़्यादा गरीब पूर्वांचल में हैं। यहां की किसी को चिंता नहीं है, सब लड़ रहे हैं। किसी सपा नेता का मकान देखिये पांच साल में कहां से कहां पहुँच गया होगा। भाजपा की सरकार में भू-माफिया नहीं दिखेगा।

शाह ने कहा कि आजमगढ़ में परिवर्तन से ही प्रदेश में परिवर्तन होगा। आज़मगढ़ को पुराना सम्मान दिलाने के लिए परिवर्तन करना जरूरी है। लोकसभा चुनाव में मिली हार की शिकायत करते हुए अब सूद समेत सभी सीटें जिताने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि हम यूपी का परिवर्तन करना चाहते हैं। आज यूपी को गरीब प्रदेश के रूप में लोग जानते हैं। प्रधानमंत्री मोदी इसे सबसे संमृद्ध प्रदेश बनाना चाहते हैं। हर बेरोजगार को रोजगार दिलाना चाहते हैं। इंटरव्यू के बहाने करप्शन होता है इसलिए मोदी जी इसे हटाना चाहते हैं। शाह ने लोगों से दोनों हाथ उठाकर बीजेपी के लिए समर्थन मांगते हुए अपने भाषण का अंत किया।

शाह से पहले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, मानव संसाधन राज्यमंत्री महेन्द्रनाथ पांडेय, विनय कटियार, योगी आदित्य नाथ, भारतीय समाज पार्टी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने भी संबोधित किया।