सीएम ने पतरातू लेक रीसॉर्ट योजना का किया शिलान्यास

पतरातू : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार को पतरातू लेक रीसाॅर्ट का शिलान्यास किया. पतरातू डैम की खूबसूरती बढ़ाने और इसे विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल बनाने के लिए अब पहले फेज का काम रफ्तार पकड़ेगा. पतरातू पहुंचे मुख्यमंत्री ने वहां से ही रांची के हुंडरू, जोन्हा व दशम फॉल और खूंटी के पंचघाघ जलप्रपात की सुंदरीकरण योजना का भी ऑनलाइन शिलान्यास किया.

उन्होंने कहा : पतरातू में लेक रीसाॅर्ट के लिए सरकार तीन फेज में 200 करोड़ रुपये खर्च करेगी. दूसरे चरण में वाटर स्पोर्ट्स हब व तीसरे चरण में इको एडवेंचर हब बनते ही रीसॉर्ट पूरी तरह तैयार हो जायेगा. यह रीसॉर्ट विदेशी सैलानियों को भी आकर्षित करेगा. पूरी दुनिया में इसकी ख्याति गूंजेगी. इसका लाभ यहां के स्थानीय लोगों के साथ राज्य व देश को भी होगा. स्थानीय लोग रोजगार से जुड़ेंगे. विदेशी सैलानियों के आगमन से विदेशी मुद्रा आयेगी. पतरातू, रजरप्पा, बाबाधाम, इटखोरी को विकसित किया जायेेगा.

वैष्णो देवी की तर्ज पर विकसित होगा रजरप्पा : मुख्यमंत्री ने रजरप्पा, बाबाधाम व इटखोरी को वर्ल्ड क्लास का तीर्थस्थल बनाने की भी घोषणा की. कहा : रजरप्पा को वैष्णो देवी मंदिर की तर्ज पर विकसित किया जायेगा. वहीं, बाबाधाम को विश्वस्तरीय श्रावणी मेला के रूप में पहचान दी जायेगी. दोनों जगहों पर शुरुआती कामकाज किया जा चुका है. रजरप्पा में लाइटिंग की व्यवस्था हो चुकी है. बाबाधाम में श्रावणी मेला कांप्लेक्स बना दिया गया है. मुख्यमंत्री ने इटखोरी को भगवान बुद्ध से जोड़ते हुए कहा : यहीं पर भगवान बुद्ध अपनी मां से बिछड़ कर बोधगया पहुंच गये थे. बाद में उन्होंने पुन: यहां आकर अपना मुंडन संस्कार करवाये. आज विश्व में बौद्ध धर्म के करोड़ों अनुयायी हैं, जो बोधगया पहुंचते हैं. अब इटखोरी में भी विदेशों से बौद्ध धर्म के अनुयायी पहुंचेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *