सकारात्मक सोच से ही समाज का विकास होगा : द्रौपदी मुर्मू

अनगड़ा: समाज के उत्थान एवं विकास के लिए हमें अपनी सोच सकारात्मक बनानी होगी. सर्वांगीण विकास के लिए महिला सशक्तीकरण आवश्यक है. महिलाएं जागरूक होंगी, तो ही समाज व देश विकसित होगा. उक्त बातें राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कही.

राज्यपाल शनिवार को आदिम जनजातीय बिरहोर कॉलोनी गेतलसूद के पुनर्निर्मित आवासों के लोकार्पण सह महिला शक्ति सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि बोल रही थीं. उन्होंने कहा कि राज्य के किसान वैज्ञानिक कृषि पद्धति को अपनाएं व अपनी आय में वृद्धि करें. कहा कि उन्हें सूचना है कि इस क्षेत्र में शिक्षा एवं स्वास्थ्य की स्थिति संतोषजनक नहीं है. उन्होंने विकास भारती से इस क्षेत्र में कार्य करने का आग्रह किया.

सरकार विस्थापितों के साथ न्याय करे
अध्यक्षता करते हुए पद्मश्री अशोक भगत ने कहा कि राज्य के सभी लोग अपने सामाजिक दायित्वों को समझें व उनका निर्वहन करें. विशिष्ट अतिथि सांसद रामटहल चौधरी ने कहा कि हमें सामाजिक बुराइयों व कुरीतियों को दूर करने के लिए भी आगे आना चाहिए. ये घरों को तबाह व बर्बाद कर देते हैं. उन्होंने कहा कि गेतलसूद डैम विस्थापितों को सुविधाएं अब तक नहीं मिली है, यह चिंतनीय है. सरकार विस्थापितों के साथ न्याय करे. उन्हें पीने का पानी एवं उनके खेतों तक बिजली पहुंचाये.

विधायक रामकुमार पाहन ने कहा कि राज्य सरकार महिला सशक्तीकरण की दिशा में गंभीरता से कार्य कर रही है. उज्ज्वला योजना, मुख्यमंत्री स्मार्ट फोन योजना, आर्थिक उन्नयन, सामाजिक सुरक्षा योजना महिला सशक्तीकरण के लिए ही क्रियान्वित किये जा रहे हैं. कार्यक्रम में पेयजल व स्वच्छता प्रधान सचिव एपी सिंह, राज्यपाल के सचिव एसके सत्पथी, कल्याण सचिव हिमानी पांडेय, बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष आरती कुजूर, डीडीसी शशि रंजन, प्रमुख अनिता गाड़ी, उपप्रमुख बेबी यासमीन, जिप सदस्य सरिता देवी, यूनिसेफ के कुमार प्रेमचंद, जेएसपीएलएस की शांति मार्डी, मुखिया मधुसूदन मुंडा, राजेश पाहन, मनेश्वर मुंडा, हेमंत कुमार, सुषमा बड़ाइक, मनती देवी, संगीता देवी सहित अन्य मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *