झारखंड : सरकार के क्रियाकलाप में भी जागरूकता जरूरी : सरयू

रांची : खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री सरयू राय ने सरकार के क्रियाकलाप में जागरूकता की जरूरत बतायी है. प्रोजेक्ट भवन के सभागार में राज्य एवं जिला उपभोक्ता संरक्षण परिषद के गैर सरकारी मनोनीत सदस्यों की कार्यशाला में श्री राय ने कहा : सरकार की मुट्ठी जनता की गर्दन पर है. गर्दन पर कितना दबाव दिया जाना चाहिए, यह सोचने की जरूरत है.

शासन के ऊपर का संस्कार बदलना जरूरी है. मौजूदा व्यवस्था में सरकार बचाव और विपक्ष बुराई करता है. ऐसे में सत्ता के शिखर पर बैठे व्यक्ति को अपने चरित्र और अपने कार्यों से उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए. ऊपर के तबके का लोभ खत्म करने की कोशिश होनी
चाहिए.उपभोक्ता संरक्षण परिषद के सदस्यों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा : समाज के मेधावी मस्तिष्क और ताकतवर समूह से उत्पन्न हो रहे खतरे को दूर करना होगा. मेधावी मस्तिष्क और ताकतवर समूह में डर पैदा करना होगा. उनको जागरूक बनाना होगा. केवल कानून बना लेने से समस्या का समाधान नहीं होगा. जितने अधिक कानून बनेंगे, समस्याएं उतनी बढेंगी. समाज का अनौपचारिक रूप से ही चलना बेहतर होता है.

यह बात हमें समझनी होगी. श्री राय ने कहा कि राज्य में उपभोक्ता संरक्षण परिषदों को सक्रिय करने का सार्थक प्रयास अब तक नहीं हुआ है. उपभोक्ताओं को सशक्त बनाने के लिए प्रखंड स्तर पर संरक्षण समूह बनाने की आवश्यकता है. उपभोक्ताओं में यह विश्वास जगाना होगा कि उनकी शिकायत पर न्याय मिलेगा. उनको जागरूक बनाने के लिए सबको उपभोक्ता आंदोलन का हिस्सा बनने की जरूरत है. जागरूकता से ही गलत करने वालों में डर बनेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *