मध्‍य प्रदेश में छापों में हुआ 281 करोड़ के रैकेट का पर्दाफाश : आयकर विभाग

भोपाल : मध्‍य प्रदेश में पिछले दो दिनों में हुए आयकर विभाग के छापों एक बड़े और संगठित रैकेट का पर्दाफाश हुआ है जिसमें 281 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं जिनका कोई हिसाब नहीं है. इसमें नेता, कारोबारी और ब्यूरोक्रेट्स शामिल हैं. यानी पैसे का आदान प्रदान इन तक है. आयकर विभाग ने सोमवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी.

इनमें से पैसे का एक हिस्सा एक राजनीतिक पार्टी के मुख्यालय तक गया जिसमें से 20 करोड़ हाल ही में तुगलक रोड से एक बड़े नेता के एक घर से हवाला के जरिये उस पार्टी के मुख्यालय भेजा गया. आयकर अधिकारी ने बताया कि रविवार की सुबह उनकी टीम ने इंदौर में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ के घर और राजेंद्र मिगलानी के दिल्ली आवास पर हावाला मामले को लेकर छापेरमारी की थी.

आयकर विभाग के अनुसार जांच में कई संदिग्ध लेनदेन पाए गए जो हाथ से लिखी डायरियों, कम्प्यूटर फाइल्स और एक्सेल शीट से मिलान कर सही पाए गए. 14 करोड़ 60 लाख रुपये कैश मिला जिसका कोई हिसाब नहीं है. 252 बोतल महंगी शराब मिली, कुछ हथियार और बाघ की खाल मिली है. बड़े नेता के करीबी के यहां दिल्ली में छापेमारी में एक कैश बुक मिली जिसमें 230 करोड़ के लेनदेन का जिक्र है, लेकिन उसका कोई हिसाब नहीं है. फ़र्ज़ी बिलों के जरिये 242 करोड़ रुपये को कहीं और ठिकाने लगा दिया गया. टैक्स बचाने के लिए 80 कंपनियों के सबूत मिले. दिल्ली एनसीआर के पॉश इलाके में कई महंगी संपत्तियों का पता चला है. चुनाव आयोग को अचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दे दी गई है.

गौरतलब है कि हवाला कारोबार और टैक्स चोरी के शक में मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर रविवार तड़के शुरू हुई कार्रवाई सोमवार को भी जारी रही. भोपाल में सोमवार की दोपहर आयकर विभाग के कुछ अधिकारी मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के करीबी अश्विन के घर से पांच बड़े सीलबंद बक्से लेकर बाहर निकले. वहीं दिल्ली में कमलनाथ के एडवाइजर आरके मिगलानी के घर पर भी इनकम टैक्स की टीम डटी रही. भोपाल में सोमवार की दोपहर इनकम टैक्स के अधिकारी संगीनों के साये में 5 बड़े बक्से लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के करीबी अश्विन के प्लैटिन प्लाजा स्थित घर से निकले. इनके पीछे कुछ कर्मचारी नोट गिनने की मशीन लेकर चल रहे थे.

उधर इंदौर में इनकम टैक्स की टीम प्रवीण कक्कड़ की पत्नी को लेकर एक बैंक पहुंची. वहीं दूसरी टीम कक्कड़ के बेटे को लेकर बीसीएम हाइट्स स्थित दफ्तर में जांच करने पहुंची. सोमवार को मुख्यमंत्री छिंदवाड़ा में बने रहे. उनके घर के बाहर सख्त पहरा था. उनका कोई बयान नहीं हुआ, पर बीजेपी-कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप चलता रहा.

Leave a Reply