प्रदेश में 1650 ग्राम नल-जल योजनाएं शुरु होगी : मुख्यमंत्री

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मुख्यमंत्री ग्राम नल-जल योजना में प्रस्तावित सभी 1650 नल-जल योजनाएं अभियान के रूप में आगामी फरवरी माह तक शुरु की जाएं। प्रदेश के हर गांव में और हर घर में बिजली उपलब्ध करायी जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहां प्रगति ऑन लाइन वीडियो कान्फ्रेंस के तहत बड़ी परियोजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रस्तावित सभी नल-जल योजनाओं के लिये पेयजल स्रोत विकसित करने का काम आगामी जनवरी माह तक पूरा कर लिया जाए। प्रदेश के सभी घरों में बिजली पहुंचाने के लिये युद्ध-स्तर पर काम करें। प्रधानमंत्री आवास योजना में गरीब हितग्राहियों को आवास उपलब्ध कराने का कार्य प्राथमिकता से करें। बड़ी सड़क परियोजनाओं की प्रगति की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये की सिवनी-कटंगी सड़क का निर्माण समय-सीमा में पूरा किया जाए। मेडिकल कॉलेज रतलाम को आगामी 2018 सत्र से शुरु करने के लिये निर्माण कार्यों के साथ रिक्त पदों की पूर्ति का काम प्राथमिकता से पूरा करें। प्रदेश में निर्माणाधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के भवनों का निर्माण आगामी मार्च 2018 तक पूरा किया जाए।

इस मौके पर बताया गया कि प्रदेश के 2 हजार 379 ग्रामों के लिये 1650 ग्राम नलजल योजनाएं प्रथम चरण में बनायी जाएगी। प्रदेश में दस एकलव्य आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माणाधीन हैं। वर्तमान में 23 जिलों में 35 एकलव्य आवासीय विद्यालय भवन हैं। दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में प्रदेश में 23 सब-स्टेशन बनाये जा रहे हैं। तरपेड मध्यम सिंचाई परियोजना की मुख्य नहर निर्माण का कार्य आगामी 15 जून तक पूरा हो जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कटनी में 4 हजार 362, बालाघाट में 1 हजार 404, सिवनी में 1 हजार 210 और रतलाम में 8 हजार 560 हितग्राहियों को आवास उपलब्ध कराये जाएंगे। सिवनी में वर्ष 2005 में गृह निर्माण मंडल द्वारा बनाये गए बायपास को लोक निर्माण विभाग को सौंपा जाएगा। प्रदेश में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों के स्वीकृत 344 कार्यों में से 325 पूर्ण हो गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *