Infosys को सितंबर तिमाही में 3726 करोड़ का मुनाफा

नई दिल्ली। देश की प्रमुख आईटी कंपनियों में से एक इन्फोसिस ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं। कंपनी ने FY18 के लिए रेवेन्यू गाइडेंस को कम कर दिया है। इसे 6.5%-8.5% से घटाकर 5.5%-6.5% कर दिया गया है। वहीं कंपनी में सीईओ की तलाश अब भी जारी है। गौरतलब है कि विशाल सिक्का के इस्तीफे के बाद से ही कंपनी को इस पद के लिए उम्मीदवार की तलाश है।

क्या रहे नतीजे:
कंपनी ने मंगलवार को जारी किए गए नतीजों में सालाना आधार पर 7 फीसद के उछाल के साथ सितंबर तिमाही में 3726 करोड़ रुपए का मुनाफा दर्ज किया है। आपको बता दें कि देश की इस प्रमुख आईटी कंपनी ने बीते साल की समान अवधि में 3,606 करोड़ रुपए का मुनाफा दर्ज किया था। अगर डॉलर के टर्म में बात करें तो आईटी दिग्गज के राजस्व में 2.9 फीसद का उछाल देखा गया है जबकि तिमाही आधार पर रेवेन्यू ग्रोथ 5.4 फीसद की रही है। कंपनी ने बीएसई फाइलिंग में बताया कि अनुक्रमिक आधार पर लाभ में 3.4 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। आपको बता दें कि कंपनी में नंदन निलेकणि की वापसी के बाद ये पहली तिमाही की कमाई के नतीजे हैं।

एचडीएफसी बैंक के मुनाफे में 20% की बढ़ोतरी

वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक का मुनाफा 20 फीसद बढ़कर 4151 करोड़ रुपये हो गया है। आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक का मुनाफा 3455.3 करोड़ रुपये रहा था। वहीं वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक की ब्याज आय 22 फीसद बढ़कर 9752 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक की ब्याज आय 7993.6 करोड़ रुपये रही थी। इसके साथ ही तिमाही दर तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में एचडीएफसी बैंक का ग्रॉस एनपीए 1.24 फीसद से बढ़कर 1.26 फीसद रहा है। तिमाही आधार पर जुलाई-सितंबर तिमाही में एचडीएफसी बैंक का नेट एनपीए 0.44 फीसदी से घटकर 0.43 फीसदी रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *