जन्माष्टमी

कृष्ण जन्माष्टमी पर बन रहा है बेहद दुर्लभ संयोग

जन्माष्टमी का पावन पर्व कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 2 सितम्बर को पड़ रहा है। इसका शुभ मुहूर्त रात में 23:58 से 00:44 …

Read More

जीवन में तरक्की करना चाहते है तो देखिये

रायपुर ,अपने जीवन में तरक्की करना कौन नहीं चाहता। हर रोज की भागदौड़, हर पल के परिश्रम के बावजूद जब उचित मुकाम हम नहीं पाते या अपनी मेहनत का सही …

Read More

विवाह पूर्व कुंडली मिलान क्यों ?…

रायपुर ,विवाह मानव जीवन का सबसे महत्वपूर्ण संस्कार है। इस संस्कार मे बंधने से पूर्व वर एवं कन्या के जन्म नामानुसार गुण मिलान करके का प्रावधान है। गुण मिलान नहीं …

Read More

क्या है लग्न और लग्नेश,कैसे बनते है धनवान जाने

रायपुर ,प्रत्येक मनुष्य की आकांक्षा रहती है कि वह अपने जीवन में अधिक से अधिक धन दौलत कमा कर ऐशो आराम से अपना जीवन व्यतीत कर सकें। किन्तु सबके नसीब …

Read More

संतान सुख कब मिलेगा, क्या कहती है आप की रेखा

रायपुर ,संसार में कोई भी ऐसा दंपति नहीं होगा, जो संतान सुख नहीं चाहता हो। चाहे वह गरीब हो या अमीर। सभी के लिए संतान सुख होना सुखदायी ही रहता …

Read More

रोग और राशियों का मेल

रायपुर ,ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी जातक के जन्म लेते समय ग्रह और नक्षत्रों की स्थिति उसकी मानसिक एवं शारीरिक विलक्षणताओं का निर्धारण करती है। इसे जन्म कुंडली के सटीक …

Read More

जाने क्या है भद्र-योग और राज योग

रायपुर ,मनुष्य जीवन पूरी तरह ग्रहो के प्रभाव पर टिका है, कुंडली में जिस तरह के ग्रह योग निर्मित होते है उसी तरह का जीवन प्राप्त होता है , हर …

Read More

जन्मकुंडली में शुभ और अशुभ दोनों तरह के योग होते हैं जाने क्यू ..

रायपुर ,जन्मकुंडली में शुभ और अशुभ दोनों तरह के योग होते हैं। यदि शुभ योगों की संख्या अधिक है तो साधारण परिस्थितियों में जन्म लेने वाला व्यक्ति भी धनी, सुखी …

Read More

जब जातक की जन्म पत्रिका में चंद्रमा से दसवें स्थान पर कोई शुभ ग्रह हो तो क्या होता है ….

रायपुर ,ज्योतिष विद्या में नौ ग्रहों, 12 राशियों और 27 नक्षत्रों का समावेश है जिसमें सभी की अपनी महत्ता है। सभी ग्रहों का अपने आप में महत्व है लेकिन कुछ …

Read More

क्या आप भी विदेश यात्रा और कारोबार करना चाहते है तो जाने

रायपुर ,एक समय ऐसा था जब घर से दूर रहकर काम करने को अच्छा नहीं समझा जाता था विदेशों में काम करने या रहने को घर से दूर होने के …

Read More