सूरज की रौशनी की तरह संतों की वाणी सर्व समाज के लिए: डॉ. रमन सिंह

Last Updated on

रायपुर:मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि जैसे सूरज की रौशनी किसी एक घर के लिए नहीं होती, ठीक वैसे ही संतों की वाणी किसी एक समाज के लिए नहीं बल्कि सर्व समाज के कल्याण के लिए होती है। उन्होंने कहा – गुरू बाबा घासीदास भी एक ऐसे महान संत थे, जिनके उपदेश सम्पूर्ण मानव समाज के लिए है। सहज-सरल छत्तीसगढ़ी भाषा में रचित पंथी गीतों की छोटी-छोटी पंक्तियों में देश और दुनिया को गुरू बाबा घासीदास का यह संदेश मिलता है कि सत्य ही ईश्वर है, सभी मनुष्य एक हैं और सबके खून का रंग भी एक है। उनके आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ राज्य आज विकास की नई ऊचाईयों की ओर अग्रसर है।
मुख्यमंत्री आज गुरू घासीदास जयंती के अवसर पर मुंगेली जिले के ग्राम लालपुर में आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने इसके पहले आज ही कबीरधाम जिले के विकासखण्ड मुख्यालय पंडरिया में भी गुरू घासीदास जयंती समारोह को संबोधित किया। मुख्यमंत्री देर शाम जिला मुख्यालय राजनांदगांव के नंदई चौक में आयोजित  गुरू बाबा घासीदास के जयंती कार्यक्रम में भी शामिल हुए। उन्होंने तीनों कार्यक्रमों में गुरू घासीदास जी की पूजा-अर्चना कर सभी लोगों को उनकी जयंती की बधाई और शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने पंडरिया में कहा – बाबा घासीदास जी ने लोगों को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए ‘मनखे-मनखे एक है’ का प्रेरक विचार देकर सामाजिक समरसता की भावना को जन जन तक पहुंचाया। राज्य के अन्य क्षेत्रों की तरह पंडरिया इलाके में भी गुरू बाबा घासीदास के आशीर्वाद से विकास के अनेक कार्य हो रहे हैं। सड़कों, पुल-पुलियों और सिंचाई योजनाओं का निर्माण हो रहा है। राज्य का चौथा सहकारी शक्कर कारखाना इस इलाके में जल्द बनने जा रहा है, जो जनवरी माह में शुरू हो जाएगा। इस कारखाने के निर्माण से इलाके के किसानों और आम लोगों के जीवन में खुशहाली आएगी। क्षेत्र का सामाजिक-आर्थिक विकास तेज होगा। मुख्यमंत्री ने पंडरिया में सतनामी समाज के सामुदायिक भवन निर्माण के लिए तीस लाख रूपए और ग्राम नवागांव में सांस्कृतिक भवन निर्माण के लिए दस लाख रूपए मंजूर करने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि पंडरियां से ग्राम बजाग तक सड़क निर्माण का प्रस्ताव आगामी बजट में शामिल किया जाएगा।
उन्होंने लालपुर में आयोजित समारोह में कहा – गुरू बाबा घासीदास के आशीर्वाद से ही छत्तीसगढ़ में आज गांव गरीब और किसानों तथा समाज के कमजोर वर्गो के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन हो रहा है। डॉ. रमन तो निमित्त मात्र है। बाबा के आशीर्वाद से ही सतनामी समाज शिक्षित, समृद्ध और खुशहाल हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा – कुछ लोग ऐसी अफवाह फैला रहे है कि राज्य सरकार 18 दिसम्बर को गुरू घासीदास जयंती को ऐच्छिक अवकाश घोषित करने जा रही है, जबकि ऐसी कोई बात नहीं है। उसमें कोई परिवर्तन नहीं होगा। उनकी जयंती के दिन सरकार की ओर से पूर्ण अवकाश पहले भी दिया जाता था और आगे भी यथावत जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने लालपुर में विशाल मंच निर्माण और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की ओर से मिनी स्टेडियम निर्माण की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने वहां गुरू घासीदास जी के जीवन-दर्शन पर केन्द्रित कैलेण्डर का भी विमोचन किया।

डॉ. रमन सिंह ने लालपुर के समारोह में हजारों की संख्या में आए लोगों को संबोधित करते हुए कहा – मुझे खुशी है कि गुरू बाबा घासीदास जी की जन्म स्थली और तपोभूमि के रूप में प्रसिद्ध गिरौदपुरी के पावन स्थल में श्रद्धालुओं के लिए विभिन्न प्रकार की सुविधाएं विकसित की गई हैं। वहां विशाल जैतखाम का निर्माण किया गया है और छाता पहाड़ तक सड़क भी बनाई गई है। डॉ. रमन सिंह ने कहा – गुरू बाबा घासीदास की जयंती गांव-गांव में उत्साह के साथ मनाई जाती है। बाबा ने लोगों को सामाजिक-समानता का संदेश दिया। आज अगर राज्य और देश में छुआ-छूत की भावना खत्म हो गई है, तो इसमें भी गुरू बाबा घासीदास जैसे महान संतों की प्रेरणा है। गुरू बाबा ने लोगों को सात्विक जीवन जीने के लिए शराब और मांस-मदिरा के सेवन से बचने की शिक्षा दी। पंथी गीतों की छोटी-छोटी पंक्तियों में उनकी मधुर वाणी हमें उनके जीवन दर्शन से परिचित कराती है और यह भी बताती है कि हमारी जीवन पद्धति कैसी होनी चाहिए। यहां तक कि गुरू बाबा ने मूक पशुओं की भी चिंता की और किसानों से कहा कि इन पशुओं से दोपहर को काम नहीं लेना चाहिए।     डॉ. रमन सिंह ने राजनांदगांव के नंदई चौक में आयोजित समारोह में कहा – गुरू बाबा घासीदास ने अपने प्रेरक विचारों के जरिए तत्कालीन समाज में छुआ-छूत, सामाजिक भेदभाव और शोषण को मिटाने का ऐतिहासिक कार्य किया। डॉ. सिंह ने नंदई में वाचनालय भवन निर्माण के लिए पांच लाख रूपए मंजूर करने की घोषणा की।
जयंती समारोह को लालपुर में खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोक सभा सांसद श्री लखन लाल साहू और संसदीय सचिव श्री तोखन साहू ने भी अपने विचार व्यक्त किए। सभी वक्ताओं ने लोगों को गुरू घासीदास जयंती की बधाई और शुभकामनाएं दी। समारोह में वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री अमर अग्रवाल और राजनांदगांव के लोक सभा सांसद श्री अभिषेक सिंह सहित मुंगेली जिले के अनेक पंचायत प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन उपस्थित थे। पंडरिया के कार्यक्रम में खाद्य मंत्री श्री मोहले, संसदीय सचिव श्री मोतीराम चन्द्रवंशी , लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह और पूर्व मंत्री डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी ने भी जनता को संबोधित किया। इस अवसर पर विधायक श्री अशोक साहू, छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सिया राम साहू, जिला पंचायत कबीरधाम के अध्यक्ष श्री संतोष पटेल और अध्यक्ष जनपद पंचायत पंडरिया श्री मधुवर्मन सहित श्री रामकुमार भट्ट और अन्य कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे। राजनांदगांव में आयोजित समारोह को छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री रामजी भारती और विधायक श्रीमती सरोजनी बंजारे ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह, नगर निगम राजनांदगांव के महापौर श्री मधुसूदन यादव, बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, राज्य समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती शोभा सोनी, छत्तीसगढ़ भंडार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा और जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष श्री सचिन बघेल, सहित कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि तथा सतनाम सेवा समिति के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply