सोनभद्र मामला को लेकर प्रियंका गांधी मिर्जापुर में धरने पर बैठीं

मिर्जापुर : सोनभद्र मामला को लेकर प्रियंका गांधी मिर्जापुर में धरने पर बैठीं. प्रियंका सोनभद्र नरसंहार मामले में पीड़ितो से मिलने जा रही थी. यह जानकारी होते ही आननफानन सोनभद्र के डीएम ने उभ्भा गांव और आसपास धारा 144 लागू दी। वाराणसी से सोनभद्र जा रहीं प्रियंका को मीरजापुर पुलिस ने अपनी सीमा में नारायनपुर पहुंचते ही रोक दिया। जिसके बाद उन्होंने कहा सोनभद्र के पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाऊंगी.

कांग्रेसियों के साथ प्रियंका वहीं सड़क पर धरना देने लगीं तो उन्हें हिरासत में लेकर चुनार किला स्थित गेस्ट हाउस ले जाया गया। प्रियंका पीड़ितों से मिलने पर अड़ी हैं और उन्होंने गेस्ट हाउस में ही डेरा डाल दिया है। शाम तक पुलिस ने प्रियंका सहित 10 पर शांति भंग की आशंका में धारा 151 व 107/16 में गिरफ्तार किया। प्रियंका ने मीडिया से कहा कि यूपी में नरसंहार हो रहा है और सोनभद्र में निर्दोष लोगों को मारा गया। अधिकार मांग रहे लोगों पर गोली चलाई गई। मैं पीड़ितों से मिलकर ही रहूंगी। सोनभद्र मामला को लेकर प्रियंका गांधी मिर्जापुर में धरने पर बैठीं.

बुधवार को सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र के गांव उभ्भा में जमीन कब्जा करने गए प्रधान सहित 300 लोगों ने वहां काबिज ग्रामीणों पर हमला कर दिया था, जिसमें दस ग्रामीणों की मौत हो गई थी, जबकि 28 घायल हुए थे। इसी प्रकरण में प्रियंका वाड्रा शुक्रवार की सुबह 10 बजे अचानक वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचीं। वहां से वे सीधे बीएचयू ट्रॉमा सेंटर गईं, जहां भर्ती सोनभद्र नरसंहार के घायलों का हाल जाना। ट्रामा सेंटर से प्रियंका का काफिला वाया मीरजापुर सोनभद्र के लिए रवाना हुआ।

मीरजापुर में प्रवेश करते ही पुलिस प्रशासन ने प्रियंका का काफिला रोक दिया। वहां अफसरों से हल्की नोकझोंक के बाद कांग्रेस महासचिव समर्थकों संग सड़क पर बैठ धरना शुरू कर दिया। करीब आधे घंटे बाद एसडीएम ने उन्हें हिरासत में ले लिया और अपनी गाड़ी में बिठाकर चुनार गेस्ट हाऊस ले गए। चुनार किला पहुंचने पर प्रियंका सहित पूर्व विधायक द्वय अजय राय व ललितेशपति त्रिपाठी सहित सभी कांग्रेसी धरने पर बैठ गए। बाद में गेस्ट हाऊस में पहुंचने पर डीएम व एसपी ने उन्हें बहुत समझाने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। प्रियंका सोनभद्र जाने पर अड़ी रहीं। देर शाम तक प्रियंका वापस होने के लिए तैयार नहीं हुईं।