पटना : जदयू के मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा कि लालू प्रसाद देश के बड़े घोटालों के ठेकेदार हैं. उन्होंने अपने साथ-साथ अपनी पत्नी, अपने बेटे और अपनी बेटियों से भी घोटाले करवाये. लालू प्रसाद का पूरा परिवार घोटालों में लिप्त रहा है. लालू प्रसाद और उनके परिवार के पास 15 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति आश्चर्यजनक है. एक चपरासी का भाई 25 साल में 15 हजार करोड़ का मालिक कैसे बन जाता है? ये आश्चर्यचकित कमाई का स्रोत लालू प्रसाद बता सकते हैं? उन्होंने कहा कि पैसे के बल पर बुलाई गयी भीड़ को रैली का नाम देने वाले आज आयकर विभाग पर तंज कस रहे हैं.

रैली में आये लोग प्रेम और समर्थन में नहीं आये थे, जो लोग आये थे वो उन्हें पैसों के बल पर लाया गया था. लालू प्रसाद ने एक बार फिर गरीबों का मजाक उड़ाया. वे 15 साल के शासन काल में कभी बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों का दर्द देखने तक नहीं गये और मौका जैसे ही मिला बाढ़पीड़ितों की राहत खा गये. तेजस्वी यादव को पता करना चाहिए उनके पिता ने ही बाढ़ राहत घोटाला किया था चूहों ने नहीं.

आज तक बाढ़ को गंभीरता से नहीं लेने वाले लालू प्रसाद ने कभी भारत सरकार का आइसी कोड पढ़ा है, जिसमे साफ-साफ लिखा है कि चूहों के बिल से तटबंध कमजोर होती है.

बाढ़ की नियमावली में ये निर्देश दिया गया है कि जोअधिकारीबाढ़ तटबंध का जायजा लेने जाये, वो चूहों के बिल का जायजा लें. रैट होल से ही तटबंध कमजोर होते हैं. उन्होंने कहा कि स्कूटर से भैंस ढोने वाले चूहों को तो हवाई जहाज से उड़ा देंगे. पशुओं का चारा खाने वाले नैतिकता की बात ना करें. तेजस्वी प्रसाद यादव जैसे लोगो का सृजन ही घोटालों से हुआ है.